पंजाबी कहानियां और लोक कथाएं
Punjabi Kahaniyan Aur Lok Kathayen

पंजाबी कहानियां

  • घास : कुलवन्त सिंह विर्क
  • धरती तले का बैल : कुलवन्त सिंह विर्क
  • बेटी का दहेज : कुलवन्त सिंह विर्क
  • मनुष्य कब समझेगा : कर्मजीत सिंह गठवाला
  • एक विवाह : संतोख सिंह धीर
  • ताश की आदत : नानक सिंह
  • आखिरी तिनका : गुलज़ार सिंह संधु
  • एक जीवी, एक रत्नी, एक सपना : अमृता प्रीतम
  • मणिया : अमृता प्रीतम
  • जंगली बूटी : अमृता प्रीतम
  • बृहस्पतिवार का व्रत : अमृता प्रीतम
  • यह कहानी नहीं : अमृता प्रीतम
  • अंतरव्यथा (नीचे के कपड़े) : अमृता प्रीतम
  • शाह की कंजरी : अमृता प्रीतम
  • चीख : गुरमीत कड़िआलवी
  • संसारी : गुरमीत कड़िआलवी
  • खुले आकाश में : जसवंत सिंह विरदी
  • इन्सानियत : करतार सिंह दुग्गल
  • मुबीना या सकीना : गुरबख्श सिंह
  • खोयी हुई खुशबू : अफ़जल अहसन रंधावा
  • राक्षस : सविन्दरसिंह उप्पल
  • गुरु नानक की दरियादिली : देवेन्द्र सत्यार्थी
  • जन्मभूमि : देवेन्द्र सत्यार्थी
  • मंदिर वाली गली : देवेन्द्र सत्यार्थी